Sukanya Samriddhi Yojana Documents : सुकन्या समृद्धि योजना के द्वारा लड़कियों का भविष्य होगा उज्जवल

Sukanya Samriddhi Yojana Documents | जिनके घर में बेटियां हैं उन्हें सुकन्या समृद्धि योजना को नज़रंदाज़ नहीं करना चाहिए| क्योकि अपने बच्चों के भविष्य के लिए पैसे बचाना और निवेश करना हर माता-पिता का एक महत्त्वपूर्ण वित्तीय लक्ष्य होता है|. इसके लिए कई बैंको में स्कीम भी उपलब्ध हैं , जिसमे से एक सरकार द्वारा शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना भी है| जिसे काफी लोकप्रिय और जोखिम-मुक्त योजना माना जाता है. इस योजना को भारत सरकार के ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ अभियान के तहत 2015 में शुरू किया गया था |

 Sukanya Samriddhi Yojana Documents

Sukanya Samriddhi Yojana Documents
SSY ukanya Samriddhi Yojana Documents

इसका उद्देश्य, माता-पिता को अपनी बेटी की पढ़ाई-लिखाई और लालन-पालन के लिए प्रोत्साहित करना है. इसमें इन्वेस्ट किये जाने वाला पैसा सुरक्षित रहता है, इस पर सुनिश्चित रिटर्न मिलता है, इसका इंटरेस्ट 100% टैक्स-फ्री होता है, और इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80C के तहत इस पर टैक्स डिडक्शन बेनिफिट भी मिलता है |

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता (Sukanya Samriddhi Account) खोलने के लिए आपको नज़दीकी पोस्ट ऑफिस इसका एक फॉर्म (Sukanya Samriddhi Yojana Registrasion Form) लेना होगा। इसमें आप अपना और बच्‍ची का नाम लिखें। साथ ही अन्य जरूरी जानकारियां भरें। फॉर्म भरने के बाद इसके साथ अपने पहचान-पत्र, एड्रेस प्रूफ, आधार कार्ड और बेटी का नाम, उसका जन्‍म प्रमाण-पत्र आदि की फोटोकॉपी साथ में लगाकर जमा करें। जानकारियों के सही पाए जाने पर आप इस योजना का लाभ ले सकेंगे। आप हर महीने अपनी सुविधा के अनुसार खाते में पैसा जमा करते रहें।

Sukanya Samriddhi Yojana Documents : यह रहेंगे SSY ब्याज

मौजूदा समय में सुकन्या समृद्धि योजना में 7.6 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है. सीनियर सिटीजंस सेविंग्स स्कीम को छोड़ दिया जाए तो इसमें सबसे ज्यादा ब्याज मिल रहा है |

Sukanya Samriddhi Yojana : एक वित्त वर्ष में अधिकतम जमा

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एक वित्त वर्ष में कम से कम 250 रुपये और अधिकतम 1.50 लाख रुपये जमा किया जा सकता है. एक अभिभावक अधिक से अधिक 2 बेटियों के नाम से अकाउंट खुलवा सकता है |

टेन्योर

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत माता-पिता को सिर्फ 14 साल तक निवेश करना होता है. जबकि खाते की मेच्योरिटी अवधि 21 साल है. 14 साल के बाद बचे हुए 7 साल के दौरान 14 साल के क्लोजिंग बैलेंस पर 7.6 फीसदी सालाना के हिसाब से ब्याज मिलेगा. 21 साल बाद मेच्योरिटी पर पूरी रकम मिलेगी. हालांकि अगर बेटी 18 साल की हो जाती है तो उसकी शादी के नाम पर खाते से पैसा निकाला जा सकता है |

टैक्स छूट का लाभ

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत निवेश आयकर कानून की धारा 80C के तहत टैक्स छूट का लाभ लिया जा सकता है.

अधिकतम कितना फायदा

मौजूदा तिमाही के लिए SSY पर ब्याज दरें 7.6 फीसदी तय की गई हैं. मान लीजिए यदि यह ब्याज दरें बरकरार रहती हैं और 14 साल तक आप हर महीने 12500 रुपये या 1.50 लाख रुपये सालाना (अधिकतम रकम) निवेश करते हैं. ऐसा आपको 14 साल तक करना होगा. 14 साल में 7.6 फीसदी सालाना कंपाउंडिंग के हिसाब से यह रकम 37,98,225 रुपये हो जाएगी. इसके बाद 7 साल तक इस रकम पर 7.6 फीसदी सालाना कंपाउंडिंग के हिसाब से रिटर्न मिलेगा. 21 साल यानी मेच्योरिटी पर यह रकम करीब 63,42,589 रुपये होगी. यानी आपको 42.5 लाख रुपये ब्याज के रूप में फायदा होगा  |

यह भी जानें :- PM Awas Yojana Beneficiary : केवल इन परिवारों को मिलेगा आवास योजना का लाभ ,जाने पात्रता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here