What Is Rossby Waves General Knowledge : जानिए रोस्बी तरंगों के बारे में, जानिए इन तरंगों के बारे में | GK in Hindi

What Is Rossby Waves General Knowledge | GK in Hindi : जानिए रोस्बी तरंगों के बारे में, जानिए इन तरंगों के बारे में : आज हम आपको बताएंगे रोस्बी तरंगों के बारे में ! क्या होती है रोस्बी तरंग ! क्या है इसके पीछे का कारण ! कैसे उत्पन्न होती है रोस्बी धाराएं ! आइए जानते हैं पूरी जानकारी !

What Is Rossby Waves General Knowledge | GK in Hindi 

What Is Rossby Waves General Knowledge : जानिए रोस्बी तरंगों के बारे में, जानिए इन तरंगों के बारे में

क्या है रोस्बी तरंगे General Knowledge | GK in Hindi 

एक अध्ययन के मुताबिक कहा गया है कि भारत में सूखे ( drought ) या अनावृष्टि की घटना ऐतिहासिक रूप से अलनीनो के साथ जुड़ी हुई है ! इसमें यह भी कहा गया है ! कि भारत में ग्रीष्म मानसून काल के समय गैर अलनीनो वर्षा में पढ़ने वाले लगभग 10 में से 6 सूखे की घटनाओं के लिए यह रोस्बी धाराएं ( Rossby Waves ) जिम्मेदार हो सकते हैं ! रोस्बी तरंगे स्वाभाविक रूप से घूर्णन तरल पदार्थों में होती है ! पृथ्वी के महासागर और वायुमंडल के भीतर यह तरंगे मौसम को आकार देने का महत्वपूर्ण कार्य करती है !

Indane Gas Booking Missed Call Number  : अब इस नंबर से होगी इंडेन गैस की बुकिंग , देखे नया नंबर और सूची

Know About 5G Network GK in Hindi : जानिए 5G नेटवर्क की विशेषताएं, क्या होगी 5G के आने से नेटवर्क में बदलाव | General Knowledge

रोस्बी तरंग ( Rossby Waves ) गर्म उष्णकटिबंधीय हवा से ठंडे ध्रुवीय वायु को अलग करते हैं ! रोस्बी धाराएं ( Rossby Waves ) की पहचान सबसे पहले कार्ल-गुस्ताफ अरविद रॉस्बी ( Carl-Gustaf Arvid Rossby ) के द्वारा की गई थी ! इस व्यक्ति ने हीं पहली बार इन तरंगों ( Rossby Waves ) को पहचाना और इनके मूवमेंट के बारे में बताया था !

कैसे बनती है रोस्बी तरंगे General Knowledge | GK in Hindi 

जब ध्रुवी हवा भूमध्य रेखा की ओर बढ़ती है ! और उष्णकटिबंधीय हवा ध्रुवीय की ओर गतिमान होती है तो रोज भी तरंगे ( Rossby Waves ) बनती है ! सौरभ एकीकरण की मात्रा में अंतर के कारण भूमध्य रेखा और ध्रुवों के बीच तापमान में अंतर होने के कारण ऊष्मा निम्र से उच्च अक्षांशो तक प्रवाहित होती है ! आपको बता दे यह इन हवाओं ( air ) के मूवमेंट के द्वारा ही आंशिक रूप से पूरा होता है ! रोस्बी तरंगे सरल सरकुलेशन ( circulation ) का एक प्रमुख घटक है ! उष्णकटिबंधीय वायु ऊष्मा को ध्रुवीय की ओर ले जाती है !

और भूमध्य रेखा की ओर बढ़ने पर ध्रुवीय वायु ऊष्मा को अवशोषित करती है ! इन तरंगों ( Rossby Waves ) का अस्तित्व कम दबाव वाली कोशिकाओं और उच्च दबाव वाली कोशिकाओं की व्याख्या करता है ! जो मध्य और उच्च अक्षांश के मौसम के उत्पादन में काफी ज्यादा महत्वपूर्ण होती है !

कितने प्रकार की होती है यह तरंगे General Knowledge | GK in Hindi 

धाराएं या तरंगे दो प्रकार की होती है !
1. महासागरीय रोस्बी तरंगे ( Rossby Waves ) !
2. वायुमंडलीय रोस्बी तरंगे ( Rossby Waves ) !

महासागरों में लहरे कई अलग-अलग आकारों में आती है ! धीमी गति से चलने वाली समुद्री रोस्बी लहरें ( Rossby Waves ) समुद्र की सतह की लहरों से मूलभूत रूप से भिन्न होती है ! तट के किनारे टूटने वाली तरंगों के विपरीत रोस्बी लहरी ( Rossby Waves ) विशाल और बड़ी होती है ! समुद्र के हिलते हुए मूवमेंट जो पश्चिम दिशा में सैकड़ों किलोमीटर तक पूरे ग्रह में क्षैतिज रूप से फैलते हैं ! वे इतने बड़े पैमाने पर होते हैं कि वे पृथ्वी की जलवायु स्थितियों को बदल सकते हैं !

Pradhan Mantri Kisan Maandhan Yojana Registration Start : किसानों को मिलेगी 3 हजार रुपए प्रतिमाह पेंशन , योजना में ऑनलाइन आवेदन शुरू

Bank Launches New Facility : बैंकों की नयी सुविधा , अब सभी को सिर्फ 30 मिनिट में मिलेगा लोन , ऐसे ले इस सुविधा का लाभ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here